12 August marks an ‘International Youth Day’ aim to spread awareness among youngesters

0
37

मेहनत करने वालों की सफलता पक्की होती है, युवाओं के हाथ में ही देश की तरक्की होती है|

नंदिनी चौहान

आगरा उत्तर प्रदेश
International Youth day में youth का मतलब होता है युवा पीढ़ी से , एक ऐसी पीढ़ी जोकि देश को आगे बढ़ाने में सहायता प्रदान करती है। युवा पीढ़ी आज की ताकत है, क्योंकि आज जितने भी नए अविष्कार होते हैं वो सब युवा पीढ़ी की नई सोच से होते हैं। युवा पीढ़ी आज-कल नई शिक्षा प्राप्त करती है और फिर नई शिक्षा के माध्यम से नए भारत का जन्म होता है |एक ऐसा भारत जिसमें हम सभी अपने जीवन को आसान बना सकते हैं इसलिए कहा गया है की, तुम रोक ना सकोगे वो तूफ़ान बनकर आएगा, आज का युवा हर समस्या का हल लाएगा।

हर साल दुनियाभर में 12 अगस्त यानि आज के दिन World Youth Day मनाया जाता है।युवाओं के नाम का यह दिन ज्यादा पुराना नहीं है, 17 December 1999 में सयुंक्त राष्ट्र महासभा में 12 अगस्त के दिन को अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस (International Youth Day) के रूप में मनाने का फैसला लिया गया था | विश्व सम्मेलन 1998 के दौरान मंत्रियों द्वारा इसका सुझाव दिया गया था, इस तरह पहली बार साल 2000 में 12 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस मनाया गया था |

इस खास मौके पर विश्व भर में युवाओं को पहचान दिलाने और उनके कार्यों की सराहना के लिए अलग-अलग कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। जिस देश की करीब 65 फीसदी जनसंख्या 35 साल से कम हो, उसके लिए ये दिन बहुत खास है। सही मायनों में ये दिन हिंदुस्तान का है।किसी भी देश की प्रगति में युवा की भागीदारी सबसे अहम होती है। जिस देश की आबादी का सबसे बड़ा हिस्सा युवा हो तो फिर उस देश को तरक्की करने और हर क्षेत्र में आगे बढ़ने से नही रोका जा सकता है। लेकिन सबसे खास बात ये है कि युवाओं को सही दिशा और मार्गदर्शन के साथ-साथ बेहतर शिक्षा मिले।
United Nation ने दुनियाभर में युवाओं की समस्याओं को ध्यान में रखकर इस दिवस को सेलिब्रेट करने की कवायद शुरू की थी |
इसलिए जरूरी है कि युवाओं को आगे बढ़ाने और उन्हें मौका देने के लिए अवसर उपलब्ध कराया जाए। साथ ही उनके द्वारा किए गए अच्छे कार्यों और आविष्कारों को देश-दुनिया तक पहुंचाई जाए। इसी उद्देश्य के साथ देश-दुनिया में हर साल 12 August को अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस (International Youth Day 2021) के तौर पर मनाया जाता है, ताकि उनकी आवाज और उनके कामों को हर किसी तक पहुंचाई जा सके। इसके अलावे उनकी समस्याओं के समाधान के लिए ठोस उपाय किए जा सकें।
आज युवाओं की सामने सबड़े बड़ी चुनौती यही है | स्कूल कॉलेज से लेकर नौकरीपेशा व्यक्ति भी stress से जूझ रहा है | किसी को करियर की चिंता खा रही है और कोई करियर बनाने के बाद भी बॉस के डर से stress में जी रहा है |हर साल इंटरनेशनल यूथ डे के लिए संयुक्त राष्ट्र एक थीम का चुनाव करता है। इस थीम पर आधारित दुनियाभर में कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। इसके अलावा युवाओं से उनके विचार पर सलाह ली और दी जाती है। बुलंद हो हौसला तो मुठ्ठी में हर मुकाम है, मुश्किलें और मुसीबतें तो जिंदगी में आम है, जिंदा हो तो ताकत रखो बाजुओं में लहरों के खिलाफ तैरने की क्योंकि लहरों के साथ बहना तो लाशों का काम है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here