बिहार में ट्रैन रास्ता भटक गयी ‘:अमरनाथ एक्सप्रेस बरौनी से चली, जाना था समस्तीपुर और पहुंच गई विद्यापतिनगर; 2 अफसर निलंबित

    0
    52
    रास्ता बताने वाले सो गए
    रास्ता बताने वाले सो गए

    बिहार में ट्रेन ही रास्ता भटक गई। उसे जाना कहीं और था और पहुंच कहीं और गई। मामला गुवाहाटी से जम्मूतवी जा रही 15653 अप अमरनाथ एक्सप्रेस का है। ट्रेन गुरुवार तड़के अपना रास्ता भूल गई। बरौनी से खुलने के बाद ट्रेन को जाना था समस्तीपुर, पहुंच गई विद्यापतिनगर। जानकारी के बाद सोनपुर रेल मंडल के अधिकारियों के बीच हड़कंप मच गया।

    विद्यापतिनगर पहुंच चुकी ट्रेन को वापस बछवाड़ा लाया गया। फिर उसे समस्तीपुर रवाना किया गया। इस दौरान करीब एक घंटे लग गए। उधर, मामले की गंभीरता को देखते हुए सोनपुर के DRM नील मणि ने बछवाड़ा स्टेशन के सहायक स्टेशन मास्टर कुंदन कुमार और सूरज कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए मामले में जांच का आदेश दिया है। DRM ने कहा कि यह बड़ी लापरवाही है।

    जानकारी अनुसार अमरनाथ एक्सप्रेस सुबह 4.45 बजे बरौनी से खुली। ट्रेन का सीधा ठहराव समस्तीपुर था। ट्रेन बछवाड़ा में 5.15 बजे थ्रू आउट गुजर रही थी। बछवाड़ा स्टेशन पर गलत लाइन के कारण बरौनी-समस्तीपुर रूट के बदले ट्रेन बछवाड़ा-हाजीपुर रेल खंड पर जाने लगी।

    ट्रेन ड्राइवर ने कंट्रोल को सूचना दी तब पता चला

    ट्रेन के चालक जब तक कुछ समक्ष पाते ट्रेन विद्यापतिनगर स्टेशन के आउटर सिग्नल पर पहुंच गई। चालक ने ट्रेन रोक रेलवे कंट्रोल को जानकारी दी। बाद में ट्रेन को बैक कर वापस बछवाड़ा लाया गया। इस दौरान सुबह के छह बज गए। बाद में 6.15 बजे ट्रेन को समस्तीपुर के लिए रवाना किया गया।

    नींद में रहने के कारण बना गलत ट्रैक

    रेलवे सूत्रों ने बताया कि तड़के होने के कारण ASM समेत स्टेशन पर तैनात कर्मी नींद में थे। चूंकि बछवाड़ा स्टेशन पर ज्यादा ट्रेनों का ठहराव नहीं है और अधिकतर ट्रेन बिना रुके ही गुजरती हैं। माना जा रहा है कि रेलवे कर्मियों के नींद में रहने के कारण गलत ट्रैक बना दिया गया। फलस्वरूप पूरी स्पीड से आ रही अमरनाथ एक्सप्रेस ट्रेन ट्रैक बदल कर विद्यापतिनगर पहुंच गई।

    जांच का आदेश दिया

    तत्काल इस मामले में दो ASM को निलंबित किया गया है। पूरे मामले में जांच का आदेश दिया गया है। जांच रिपोर्ट में दोषी पाए जाने वाले अन्य कर्मियों पर भी कार्रवाई होगी।
    -नील मणि, DRM सोनपुर

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here