Delhi Police caught 6 terrorists, there was a conspiracy to shake the country with a blast

    0
    182

    Delhi police ने पाकिस्तान के आतंकियों की साजिश का किया भंडाफोड़, आने वाले त्योहार नवरात्र, दशहरा और दीपावली पर दिल्ली, महराष्ट्र व यूपी में धमाके की थी साजिश

    संध्या देवी
    चित्रकूट यूपी
    । दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने छह आतंकियों को गिरफ्तार कर देश को दहलाने की एक बहुत बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया। इनमें से दो आतंकी हाल ही में पाकिस्तान से प्रशिक्षण लेकर लौटे हैं। ये आतंकी आने वाले त्योहार नवरात्र, दशहरा,और दिवाली पर दिल्ली, महराष्ट्र व यूपी को दहलाने की साजिश रच रहे थे। 

    आतंकियों का पर्दाफाश होने के साथ ही पाक खुफिया एजेंसी ISI व अंडरवर्ल्ड की मिली भगत सामने आई है। ISI ने अंडरवर्ल्ड के साथ देश को दहलाने की साजिश की नई रणनीति अपनाई है। इसमें एक ग्रुप को नवरात्र व रामलीलाओं के दौरान भीड़भाड़ वाली जगहों पर बम धमाके करने थे और उन जगहों की पहचान करनी थी। 
    वहीं दूसरे ग्रुप को Target killing का टास्क थी। पाकिस्तान में बैठे अंडरवर्ल्ड दाऊद इब्राहिम व उसके भाई अनिस को भारत में हथियार पहुंचाने और फंडिंग का इंतजाम करने का जिम्मा था। उत्तर प्रदेश के जिले इलाहाबाद से विस्फोटक, हथियार-गोला बारूद बरामद किया गया है।

    दिल्ली पुलिस के विशेष पुलिस आयुक्त (स्पेशल सेल) नीरज ठाकुर ने बताया कि केंद्रीय एजेंसियों से इनपुट मिले थे कि एक पाक-प्रेरित और प्रायोजित संस्थाओं का समूह भारत में सीरियल आईईडी विस्फोटों को अंजाम देने की योजना बना रहा है। बम धमाकों के लिए सीमा पार से तैयारी की जा रही है। ये भी पता लगा कि ये आंतकियों के इस मॉड्यूल का नेटवर्क दिल्ली, यूपी व महाराष्ट्र समेत देश के कई हिस्सों में फैला हुआ है। इन्हीं जानकारी को देखते हुए ACP ललित मोहन नेगी व हृदय भूषण की देखरेख में इंस्पेक्टर सुनीज राजैन, इंस्पेक्टर रविन्द्र जोशी व विनय पाल की विशेष टीम बनाई गई। देश में एक साथ कई जगह तलाशी अभियान चलाया गया। कई टीमों को मुंबई में महाराष्ट्र और लखनऊ, प्रयागराज, राय-बरेली, प्रतापगढ़, यूपी में एक साथ भेजा गया। 14 सितंबर, 2021 को मानव के साथ-साथ तकनीकी नोड्स के माध्यम से एकत्र की गई खुफिया जानकारी के आधार पर विभिन्न राज्यों में एक साथ छापेमारी की गई, जहाँ सबसे पहले अंडरवर्ल्ड से जुड़े सोशल नगर, मुंबई महाराष्ट्र निवासी जान मोहम्मद शेख उर्फ समीर कालिया (47) को राजस्थान के कोटा के पास से गिरफ्तार किया गया। जान मोहम्मद दिल्ली आ रहा था। इसके बाद ओखला जामिया नगर निवासी ओसामा उर्फ समी (22) को ओखला, दिल्ली से पकड़ा गया। इसके बाद बहराइच यपू निवासी मोहम्मद अबू बकर (23) को सराय काले खां, दिल्ली से, कारेली, इलाहाबाद यूपी निवासी जीशान कमर (28) को इलाहाबाद, यूपी से, बकशिका लखनऊ, यूपी निवासी मोहम्मद आमिर जावेद (31) को लखनऊ, यूपी से और राय बरेली, यूपी निवासी मूलचंद उर्फ साजू उर्फ लाला (47) को रायबरेली, यूपी से पकड़ा गया है। 

    इस ऑपरेशन में UP ATS ने Delhi Police का साथ दिया है। ओसामा व जीशान अप्रैल में पाकिस्तान ट्रेनिंग लेने गए थे। इन्होंने विस्फोटक बनाना व हथियार चलाना सीखा था। पूछताछ में पता चला है कि इस मॉड्यूल को एक स्लीपर सेल के संचालक से आरडीएक्स आधारित आईईडी, ग्रेनेड, पिस्तौल और कारतूस प्राप्त हुए थे और इन्हें सुरक्षित छिपाने के लिए यूपी भेजा गया था। 


    इसके बाद,पाक स्थित अनीस इब्राहिम ने अंडरवर्ल्ड ऑपरेटिव जन मोहम्मद शेख उर्फ समीर कालिया के साथ मूलचंद उर्फ साजू उर्फ लाला को दिल्ली में इसे प्राप्त करने का काम सौंपा। इन्हें दिल्ली और मुंबई और देश के अन्य हिस्सों में अन्य आतंकी गुर्गों को सौंपा जाना था। बता दें कि PAK ISI व अंडरवर्ल्ड दोनों अलग अलग हैं। दिल्ली पुलिस ने सभी आतंकियों को 14 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है।

    ऐसी ही नई खबरों की जानकारी के लिए पढ़ते रहिए संध्या की रिपोर्ट thebawabilat पर।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here