Landslide In Lahaul – Dozen’s Of Village In Danger

0
85

चंद्रभागा नदी का बहाव रुका, गांव छोड़कर भागे लोग

संध्या देवी

चित्रकूट। हिमाचल प्रदेश में बारिश का कहर दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है। गुरुवार को NH-5 पर निगुलसेरी में भूस्खलन के बाद आज शुक्रवार को लाहौल स्पीति में पहाड़ गिर गया। निगुलसेरी में राहत बचाव कार्य अभी थमा भी नहीं कि एक और मुसीबत हिमाचल पर आ पड़ी। लाहौल में पहाड़ टूटने से चंद्रभागा नदी का बहाव रुक गया है। बताया जा रहा है कि अगर यह बहाव अचानक टूट गया तो करीब एक दर्जन गांव सहित कई पुल बह सकते हैं। पहाड़ टूटने से लाहौल के नाले का पानी भी रुका हुआ है जिस कारण लाहौल के जसरथ, ताडांग, व हालिंग गांव को ज्यादा खतरा है।

जानकारी के मुताबिक लाहौल स्पीति के उदयपुर उपमंडल के नालंदा के सामने पहाड़ी का एक हिस्सा टूटकर चंद्रभागा नदी में गिर गया है। जिससे नदी बांध का रूप धारण कर चुकी है। माना जा रहा है कि अचानक नदी का बहाव खुलने से पानी की गति इतनी तेज होगी कि इससे बहुत सारे लोग प्रभावित हो सकते हैं। वही जोशीमठ बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग के पास मोटर मार्ग पर भी बीते रोज भूस्खलन हुआ। दून दिल्ली हाईवे भी मोहंड के पास चट्टान खिसकने के कारण बंद रहा। अल्मोड़ा जिले के सोमेश्वर में मकान की छत ढह गई जिससे एक महिला की मौत हो गई जबकि पांच गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। पहाड़ों पर लगातार हो रहे landslide के कारण दर्जनों गांव मार्ग बार-बार बाधित हो रहे हैं। चंद्रभागा नदी का बहाव रुकने से जूडा, ताडांग और दशरथ गांव की सैकड़ों बीघा जमीन जलमग्न हो चुकी है। जिससे फसल पूरी तरह बर्बाद होगी। लोग जान बचाने के लिए घर छोड़कर सुरक्षित स्थान की ओर पलायन कर रहे हैं। भूस्खलन के कारण लोगों में हड़कंप मच गया है। पानी का बहाव जिस कदर रुका हुआ है अगर रुकाव अचानक टूटता है तो गांव सहित कई पुलों को खतरा है।

गुरुवार को किन्नौर के निगुलसेरी में हुए landslide में मरने वालों की संख्या 16 पहुंच गयी है। बस में सवार 14 यात्री अब भी लापता हैं। समय बीतने के साथ-साथ लापता लोगों के बचने की उम्मीदें भी कम होती जा रही हैं। शवों की हालत इतनी खराब हो चुकी है की शिनाख्त कर पाना बहुत मुश्किल है। फिलहाल स्थिति को परखते हुए तकनीकी शिक्षा मंत्री रामलाल नरकंडा मुख्यमंत्री से मिलने शिमला पहुंचे है। पुलिस अधीक्षक लाहौल स्पीति मानव वर्मा ने घाटी में फंसे ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने का जिम्मा प्रधानों को सौंपा है तथा कई टीमें राहत व बचाव कार्य में जुट गई हैं।

ऐसी ही नई खबरों का जानकारी के लिए पढ़ते रहिए संध्या की रिपोर्ट thebawabilat.in पर।







LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here