हॉर्स पेंटिंग में दिखा कला का अद्भुत संगम

0
71
payal lulla
payal lulla
  • पायल लुल्ला आर्ट्स की दो दिवसीय पेंटिंग एग्जिबिशन का शुभारंभ

जयपुर। किसी भी कलाकार के लिए सबसे जरूरी है की वो अपनी बात को कला के माध्यम से सहज और सरल रूप से आम जनमानस तक पहुंचा सके। इसमें भी पेंटिंग के जरिए इमोशंस को कैनवास पर उतारना बहुत मुश्किल है। ये कहना है मशहूर आर्टिस्ट और मुख्य अतिथि डॉ. विद्यासागर उपाध्याय का। शनिवार को जवाहर कला केंद्र में राजधानी की आर्टिस्ट पायल लुल्ला ने अपने आर्ट वर्क को शोकेस किया। मौका था लुल्ला आर्ट्स एग्जिबिशन सीरीज की दूसरी एग्जिबिशन का। इस सीरीज में पायल ने अश्व कला पर अपनी सोलो पेंटिंग एक्जीबिट की। पायल ने बताया की इस एग्जिबिशन में कुल 70 हॉर्सेज की पेंटिंग लगाई गई है, जिसमें एक्रेलिक, ऑयल कलर, वाटर कलर और पेनवर्क का इस्तेमाल किया गया है। पायल ने इस बार घोड़ों के इमोशंस को कई एंगल से दिखाने की कोशिश की है। दो दिवसीय इस एग्जिबिशन के शुभारंभ में उपाध्याय समेत, आयोजन स्कूल ऑफ आर्किटेक्चर के डायरेक्टर प्रो. किरण महाजनी, वरिष्ठ पत्रकार तरुण रावल और मशहूर रेडियो जॉकी और मोटिवेशनल स्टोरीटेलर आरजे कार्तिक, मीडिया शिक्षाविद सुनील तिवारी और शाश्वत वशिष्ठ उपस्थित रहें।

पायल लुल्ला आर्ट्स की दो दिवसीय पेंटिंग एग्जिबिशन का शुभारंभ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here