पाकिस्तान में उपद्रवियों ने तोड़ा सिद्धिविनायक मंदिर, भारत ने जताया कड़ा विरोध

0
47

पाक के रहीमयार खान जिले में कट्टरपंथियों ने मंदिर में घुसकर तोड़ी मूर्तियां, इलाके में भारी पुलिस बल तैनात |

नंदिनी चौहान

आगरा उत्तर प्रदेश| पाकिस्तान में कट्टरपंथी मुस्लिमों की भीड़ ने एक बार फिर हिंदू मंदिर को निशाना बनाया | भीड़ ने रहीमयार खान जिले मैं स्थित हिंदू मंदिर पर हमला कर तोड़फोड़ की और उसे जला दिया | घटना के समय मौजूद पुलिसकर्मी भीड़ से बचने के लिए वहां से भाग निकले |यही नहीं पाकिस्तानी कट्टरपंथियों ने इस पूरी घटना को फेसबुक पर लाइक किया | जिसमें देखा जा सकता है कि सैकड़ों की संख्या में लोग अचानक मंदिर के अंदर लाठी-डंडे के साथ घुसते हैं और मंदिर में रखी सभी मूर्तियों को तोड़ना शुरू कर देते हैं |

प्रधानमंत्री इमरान खान ने घटना की निंदा करते हुए दोषियों की गिरफ्तारी और मंदिर को ठीक कराने के आदेश दिए हैं | पीएम इमरान खान के स्पेशल असिस्टेंट डॉक्टर शहबाज गिल ने ट्वीट कर कहा कि यहा बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण घटना है | प्रधानमंत्री कार्यालय ने इस अप्रिय घटना का संज्ञान लिया और जिला प्रशासन को मामले की जांच करने और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है | पाक का कहना है कि पाकिस्तानी संविधान अल्पसंख्यकों को उनकी पूजा को स्वतंत्र रूप से करने की स्वतंत्रता और सुरक्षा प्रदान करता है | मंदिर पर हुए हमले को लेकर पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश गुलजार अहमद ने चिंता जताई है | सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में पंजाब सूबे के मुख्य सचिव व आईजी को रिपोर्ट के साथ 24 घंटे के अंदर पेश होने का हुकुम सुनाया है | दोनों बड़े अधिकारी शुक्रवार यानी 6 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट की इस्लामाबाद बेंच के सामने पेश होंगे |

इस घटना की निंदा करते हुए पाकिस्तान के सांसद और हिंदू कम्यूनिटी के नेता डॉक्टर रमेश कुमार वंकवानी ने 4 ट्वीट किए | वीडियो शेयर करते हुए उन्होंने लिखा- “उन लोगों पर सख्त एक्शन लिया जाए, जिन्होंने भोंग शहर के हिंदू मंदिर पर हमला किया है. मैं उच्चाधिकारियों के संपर्क में हूं , हालांकि अभी हालात संवेदनशील बने हुए हैं | पुलिस की लापरवाही शर्मनाक है | मैं चीफ जस्टिस से गुजारिश करूंगा कि वह एक्शन लें.”

वहीं भारत में विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान उच्चायोग के प्रभारी को तलब किया और घटना को लेकर का कड़ा विरोध दर्ज कराया है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here